सूखे डाल पर पंछी भी घर नहीं बनाते ।

सूखे डाल पर पंछी भी घर नहीं बनाते ।

सूखे डाल पर पंछी भी घर नहीं बनाते
सूखे डाल पर पंछी भी घर नहीं बनाते

सूखे डाल पर पंछी भी घर नहीं बनाते ।सूखे डाल पर पंछी भी घर नहीं बनाते ।

पर हमनें तो आसियान बना डाला ।

रेगिस्तान सा रिश्ते थे लोगों से |

जमाने में हम ने जान भरी और बगान लगा डाला ।

Leave a Comment